• Home
  • characteristics of cloud computing

Archive

Category Archives for "characteristics of cloud computing"

Cloud Computing क्या है? | Define Cloud Computing in Hindi

हो सकता है cloud computing का नाम आपने सुना हो और शायद उसका use भी आप करते हो लेकिन cloud computing के बारे में शायद आपको proper information ना मिली हो ऐसा भी हो सकता है कि आपको लगता है कि आपने cloud computing का use किया ही नहीं 

तो आप यह जान लीजिए online service के ज़रिए email भेजते हैं, documents को edit करते हैं, movies और TV देखते हैं games खेलते हैं,music सुनते है और files को store करते है तो यह सब करने के लिए cloud computing का ही हाथ है आज छोटे से छोटे startup से बडी agency  इसका use कर रही है  ऐसे में आप cloud computing को समझना चाहते हैं तो अपको इसकी पूरी जानकारी दी जायगी।

Cloud computing क्या है?

बिना किसी application के अपने data को store करना cloud computing कहलाता हैं इसमें हम कही भी कभी भी internet की help से अपना data analysis कर सकते हैं।cloud computing को एक ऐसे storage के रुप मे समझा जा सकता है जिसे हम कही भी कभी भी use कर सकते है इसमें आप अपनी files को online edit कर सकते है किसी भी file को online share कर सकते है ।

Cloud Computing computing services की delivery होती है जिसमे server,storage,database, networking, software analytics और  intelligence शामिल है ये सारी सर्विस इंटरनेट के जरिए ही available हो पाती है । हम जब भी mobile या computer में कोई भी file save करते हैं तो उसे किसी folder में save करते हैं यह काम अक्सर offline होता है और जब हम अपना phone या computer change कर लेते हैं तो file  को नहीं ढूंढ पाते इस problem का solution cloud computing service देती है क्योंकि data को store करने के लिए इस्तेमाल की जाती है

और यहां पर cloud का मतलब है internet से cloud computing को एक ऐसे storage के रुप मे समझा जा सकता है जिसे हम कही भी कभी भी use कर सकते है इसमें आप अपनी files को online edit कर सकते है किसी भी file को online share कर सकते है और गूगल drive जैसे provider ये service free में भी available कराते हैं यानी cloud computing का इस्तेमाल करना बहुत आसान secure और economic होता है cloud computing एक ऐसा model है जो internet की मदद से data को online manege,store और process करता है 

अब हम इसको एक example से समझते है मान लीजिए आपने कोई file बनाई जो कोई audio file,vidio file,MS word या excle जैसी कोई भी file हो सकती है और उस file को अपने अपने PC या laptop में save कर लिया ये file PC के harddisk में save हो गई अब आपको कही बाहर जाना है तो आपको उस file की जरूरत भी होगी तो उसके लिए आप किसी pendrive  या  isturnal harddisk में उस data को copy करके ले जाएंगे

 लेकिन अगर आप cloud computing का use करते है तो अपको उस file को किसी भी storage device में ले जाने की जरूरत नहीं होगी आपके पास internet connection होना चाहिए तो आओ आसानी से google driver  या dropbox जैसी services में store कर सकते है और कही से भी उस file को acces कर सकते है 

इसके लिए आपको अपना laptop या pendrive साथ ले जाने की जरूरत भी पड़ेगी और तो और PC या laptop खराब हो जाने की condition में cloud computing की मदद से आप अपना data ka  backup आसानी से ले सकते है क्योंकि आपका data Google drive जैसी किसी service पर save और sacure होगा तो cloud computing को समझाने के लिए आपको उसके कुछ examples के नाम को जान लेना चाहिए ताकि इसे समझना आपके लिए और भी आसन हो जाए 

Future Skills क्या है और हम इन्हें कैसे सीख सकते है?

Name of loud computing 

  • Google drive 
  • Dropbox
  • Facebook 
  • GMail 
  • Picasa
  • Flicker
  • Hubspot
  • Salesforce 
  • Adobe marketing cloud 
  • Google docs
  • Amazon Web services
  • Slide rocket
  • IBM cloud 

तो आजकल हर कोई traditional format को छोड़कर cloud computing की तरफ तेजी से  बड़ रहा है क्यूंकि cloud computing बहुत सारे benefits देती है  

Easy to use यानि के use करने में बहुत ही आसान cloud computing को use करना बहुत ही आसान होता है और इसे कही से भी कभी भी अपने phone ,computer या tablet पर use किया जा सकता है।

Cost की बात करे तो इसकी cost काफी कम होती है इसका use करने वाली company इसको hardware software purchase करने और setup  बनाने का खर्चा करने की जरूरत नहीं पड़ती बल्कि company online Internet पर space लेकर cloud computing services का इस्तेमाल करके अपना business बहुत ही कम खर्चे में चला सकती है 

इस services के जीतने भी resource का इस्तेमाल एक user करता है उसे उतना ही pay करना होता है यानि कि ये service बहुत ही flexible और budget friendly भी है।

Speed cloud computing services की speed बहुत fast होती है यानि कुछ clicks करके ही business को तेज़ी से आगे बड़ाया जा सकता है क्योंकि अगर internet speed fast हो और cloud computing पर सारा काम तेज़ी से होता रहेगा तो business तो speed पकड़ेगा ही।

Performance cloud computing services secure और upgrade होती है इनकी performance हर बार बेहतर होती है ।

Reliable cloud computing data backup और decarser recovery को आसान बनाती है इसीलिए इसे एक reliable service कहा जाता है ।

जहां तक security का point है तो बहुत से cloud provider users को policy technology’s का set offer करते है जिससे की user के लिए data, apps और infrastructure को tried से बचाना ज्यादा आसान हो जाता है ।

Cloud Computing के प्रकार- (Types of Cloud Computing)

 एक ही तरह की सर्विस सभी के लिए सही नहीं होती है ऐसा ही cloud computing के साथ भी होता है इसीलिए cloud computing के कई type होते है जिनमें से अपनी जरूरत के हिसाब से सही type को choose किया जा सकता है इसलिए cloud computing के types जानना भी जरूरी है 

Public Cloud Computing

इस तरह के cloud third party cloud service providers  के द्वारा  operated होते है जो server और storage jaise services Internet के through available कराते हैं इस तरह के service में सभी hardware, software और other spotting and ferstructure cloud provider द्वारा ही on और manage होता है user Web browser का use करके उनकी services को ले सकते है और अपन account manage कर सकते है microsoft azure public cloud का example है।

Private Cloud Computing

किसी business ya organisation के लिए होता है जो उस company के data center पर locket भी हो सकता है या company के द्वारा third party service provider के द्वारा manage करवाया जा सकता है। Cloud computing के इस type में  service और infrastructure को private network पर maintain किया जाता है ।

Community Cloud Computing

इस तरह के cloud computing ऐसे organisation के बीच में share होती है जिनके common bowls होते है और जो मिलकर के एक community बनाती है उस community के members ही इस services का use कर सकते है।

Hybrid Cloud Computing

ये public cloud और private cloud का combination होती है इस तरह के cloud computing मे data और applications private और public clouds के बीच में move की जाती है और ऐसी facilities देने वाले hybrid cloud का use करने से business को ज्यादा flexibility ज्यादा development options मिलते हैं साथ ही business के infrastructure और security को optimice करना भी possible हो पाता है ।

Finance Ai क्या है और यह कैसे काम करता है ?

Three Delivery Models of Cloud Services  

  • Infrastructure as a model (IaaS)
  • Software as a service (SaaS)
  • Platform as a service (PaaS) 

Infrastructure as a model (IaaS) 

ये cloud computing की सबसे basic category है

जिसमे user provider से अपनी जरूरत के अनुसार resources rent पर ले सकते है इन resources में data storage,visualisations, servers और networking शामिल है 

Software as a service (SaaS)

ये service on demand application software की service available करवाता है इसमें user को अपने PC में software install करने की जरूरत नहीं पड़ती हैं और और इसकी cost काफी कम होती है ।

Platform as a service (PaaS)

ये service software application को develop,test,deliver और manager करने की on demand anwayrment supply करती है। ये service Web और mobile apps को quickly create करने के लिए design की गई है इसी के साथ आज cloud computing में एक cloud provider ये सारी facilities भी दे सकता है 

  • Create cloud-native application
  • Store backup and recover data
  • Steam audio and video
  • Deliver software on demand
  • Analyse data
  • Test and build application

और ये काफी फायदेमंद है, और इतनी सारी facilities आपको मिल रही है 

इसे भी पढे: Artificial Intelligence (AI) क्या है और कैसे काम करता है?

Disadvantages of Cloud Computing

ये service पूरी तरह से internet पर based है यानि अगर internet है तो ये service use की जा सकती है वरना cloud computing का इस्तेमाल नही किया जा सकता है।

Cloud computing ने आज life को बहुत ही आसान बना दिया है। इसका उपयोग करके आप दुनिया के किसी भी कोने से अपने data को access कर सकते है, साथ ही अपने डेटा को safe और secure बना सकते है।

आने वाले समय में cloud computing की india में ही नही बल्कि पूरी दुनिया में माँग बढ़ने वाली है। भारत में digitalization का दौर आ रहा है। छोटा बिज़नेस हो या बड़ा, सभी अपने business को ऑनलाइन की ओर ले जाना चाहते है। सरकार भी इसपर बहुत ध्यान दे रही है। डिजिटल इंडिया पर तो ऐसे में cloud computing बेहतरीन विकल्प है अपने busssine को आगे बढ़ाने का। इसके द्वारा business को बडी तेजी से बढ़ाया जा सकता है, इसलिए ये काफी फायदेमंद और उपयोगी टेक्नोलॉजी है।

आज आपने क्या सीखा?

इस आर्टिकल द्वारा हमने Cloud Computing kya hai? इसके कितने प्रकार होते है? और भी कई जानकारी इससे संबंधित दी है जिसे पढ़कर आपको काफी कुछ ज्ञान मिला होगा। यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आया तो इसे अपने और भी दोस्तों के साथ शेयर करे ताकि उनको भी cloud computing टेक्नोलॉजी के बारे में पता चले।

FAQs

What is cloud computing?

बिना किसी application के अपने data को store करना cloud computing कहलाता हैं इसमें हम कही भी कभी भी internet की help से अपना data analysis कर सकते हैं।cloud computing को एक ऐसे storage के रुप मे समझा जा सकता है जिसे हम कही भी कभी भी use कर सकते है इसमें आप अपनी files को online edit कर सकते है किसी भी file को online share कर सकते है

What are the 4 types of cloud computing?

1. Public cloud
2. private cloud
3. Community cloud
4. Hybrid cloud.

What is a cloud computing example?

Google drive, google docs, Facebook, Gmail, Dropbox, Picasa, Flickr, etc.

What are the benefits of cloud computing? 

cloud computing का use करके हम अपने data को safe और scaure बना सकते है।इसमें हम कही भी कभी भी internet की help से अपना data analysis कर सकते हैं।

Delivery models of cloud service?

Three delivery models of cloud service 
Infrastructure as a model (IaaS)
Software as a service (SaaS)
Platform as a service (PaaS) 

What are the benefits of cloud computing?

Easy to use, No cost, Fast speed, Best performance, Reliable.