E-Rupee क्या है और कैसे काम करता है?


E-Rupee:- पिछले 5 सालों में देश ने Digital Payment में जितनी ज्यादा तरक्की की है उतनी तरक्की दुनिया में किसी भी देश नहीं नहीं की है| Digital Payment करने के मामले में अफेरिका,चीन और यूरोपीय देश भारत के आस-पास भी नही है| Digital Payment की इसी आपार सफलता को देखते हुए अब सरकार ने एक नई Technology लाई है| यह Technology एक ऐसी है जिस से अब देश में नगदी नोटों का झंझट ही खत्म हो जायगा| अब न तो नोट गंदा होगा,न फटेगा, न चोरी होगा और न ही देश में Black Money Transaction हो पायगा|

अब देश में काला धन नही बल्कि सफेद धन ही रहेगा| वो Technology है Digital Rupee यानि E-Rupee.

E-Rupee का मतलब Digital Transaction नही है| क्युकी जो Digital Transaction अब हम अपने फोन से करते है| वह Digital Transaction के लिए ही है| लेकिन E-Rupee एक अलग Currency है| इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे की E-Rupee क्या है? यह भारत में कब लोंच हुआ| कैसे यह पुरे देश की Economy को बदलेगा| आखिर कैसा होगा Digital Rupee और कैसे यह हमारे पास पहुंचेगा| इन सभी सवालों के जवाव आपको इस लेख में मिलेगे|

E-Rupee क्या है?

रिजर्व बैंक ने E-Rupee लॉन्च कर दिया है|अभी हम जो Currency नोट Use  करते हैं|  उसकी जगह पर यह काम करेगा| जब भी हम कुछ खरीदते हैं| तो कागज के नोट देते हैं लेकिन अब इसकी भी जरूरत खत्म हो जाएगी| इसकी जगह अब Digital Currency Payment  हो जाएगी| मतलब हमें नोट या सिक्के रखने के झंझट से मुक्ति मिलेगी|  बैंक का एटीएम जाके रुपए Widrow  करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी|

 लेकिन अभी यह Facility हमें Phone Pay, GooglePe, Paytm आदि से भी मिल जाती है| तो फिर इसकी जरूरत क्यों?

यह बात सही है कि E-Rupee वही काम करेगा| जो काम हम UPI Payment से करते हैं| UPI Payment भी E-Rupee की तरह पहले से Cashless है|  इससे भी हम Product  या Service  के लिए Payment ही करेंगे| फिर E-Rupee Use  करने की  वजह क्या होगी| 

आप आप यह तो मानते ही होंगे कि हर Payment UPI  से नहीं हो पाती है|  ऐसी कई Payment  होती है जहां आप कोई रिकॉर्ड नहीं छोड़ना चाहते| कई Transaction Private होते हैं| और आप नहीं चाहते कि उनके बारे में कोई और जाने लेकिन UPI में ऐसा नहीं होता है वहां पर Payment  का रिकॉर्ड होता है| Bank Statement मैं पूरा रिकॉर्ड रहता है|

आपको ऐसे कई सारे लोग मिले होंगे जो Card  या UPI से Payment  नहीं चाहते  है| उन्हें Currency  नोट ही चाहिए होते हैं|  इसी तरह हम खुद अपने Privacy  की वजह से Cash  मैं Payment करते हैं|  तो इन्ही जरूरतों को ध्यान में रखकर रिजर्व बैंक ने E-Rupee को लॉन्च किया है|  इसका Use Online  ही होगा लेकिन Privacy  वैसे ही होगी जैसे Currency  नोट में होगी|  मतलब सरकार को या किसी बैंक को यह पता नहीं  होगा कि आपके पास E-Rupee  कहां से आया और कहां गया|  और आपके पास कितने E-Rupee  है इसका भी कोई  हिसाब नहीं रखा जाएगा| कुल मिलाकर कहे तो E-Rupee Track  नहीं होगा|

E rupee kya hai

E-Rupee का Use  कैसे होगा?

जैसे हम अपने पैसों को रखने के लिए Wallet,Purse आदि का Use  करते हैं|  वैसे ही Central Bank Currency Wallet  की जरूरत  होगी| E-Rupee  इसी Wallet  मैं Store होंगे| जब आप Bank  से Request करेंगे  तो वह Cash  देने की बजाय  आपके Wallet  मैं E-Rupee डाल  देंगे | Central Bank Digital Currency E-Rupee  उसी तरह रखा होगा जैसे असली नोट  आपकी जेब में रहते हैं| जैसे आपकी जेब में ₹1200 हैं| तो इसके नोट होंगे दो 500 और एक नोट 200 का|  इसी तरह Wallet  मैं भी  दो E-Rupee 500  के और  एक E-Rupee  200 का होगा|

इस CBDC Wallet  के Mobile App  को  आसानी से Download  करके Uninstall कर सकेंगे| आपका Bank  ही इस App  को Provide  करेगा| यह App IPhone और Android Phone दोनों में Install  हो जाएगी| हालांकि शुरू में इस App  मैं Registration उन्हीं लोगों का होगा जिन्हें बैंक Permit  करेगा|  अभी यह Registration  सभी के लिए नहीं खुला है|

Digital Voter ID Card क्या हैं और कैसे बनवाये ?

E-Rupee रखने की Limitation क्या है?

E-Rupee रखने वाले इस Wallet  की कुछ Limitation  है|  जैसे आप इसमें दो लाख से ज्यादा के E-Rupee  नहीं रख सकते| और इसके अलावा 1 दिन में  30 से ज्यादा Transaction भी नहीं कर सकते| E-Rupee का Use आप सामान खरीदने  मैं भी कर सकते हैं|  सामान खरीदने के लिए QR Code वैसे ही करना होगा जैसे आप UPI Payment  करने के लिए करते हैं| Payment  करते ही आपके Wallet  से E-Rupee  निकलकर  मर्चेंट  के Wallet  मैं चला जाएगा| अच्छी बात यह है कि आप E-Rupee  के बदले Normal Currency नोट भी Exchange  कर सकते हैं|  बैंक की असुविधा देंगे| इसके अलावा मर्चेंट भी सुविधा दे सकते हैं| 

Social Media Marketing क्या है, कैसे करे?

शुरू में E-Rupee कहां से मिलेंगे?

E-Rupee बैंकों से मिलेंगे| बैंक अपने ग्राहकों को Normal Currency की जगह E-Rupee भी दे सकते हैं|  आपके Request  करने पर E-Rupee  दिया जाएगा|

E-Rupee हमारे पास कैसे आएगा?

यह एक Digital Currency है| मतलब हम इस को छू नहीं सकते| यह एक खास CBDC Wallet  मैं रहेगा| जैसे डिमैट खाते में किसी कंपनी के शेयर रहते हैं|  उसी तरह CBDC Wallet अलग-अलग वैल्यू के E-Rupee रहेंगे|

किस-किस वैल्यू की डिजिटल करेंसी मिलेगी?

Physical Currency की तरह आप E-Rupee  की वैल्यू भी Choose कर सकते हैं|

यह 2000,500,200,100,50,20 और 10  रुपए का हो सकता है|

E-Rupee का इस्तेमाल कहां कर सकते हैं?

जहां कहीं भी पेमेंट की जरूरत होगी|  वहां E-Rupee  का Use  हो  सकता है|  जैसे आप किसी को पैसे भेजना चाहते हैं  तो E-Rupee  भेज सकते हैं|  किसी दुकानदार से  कुछ खरीदते हैं तो Payment  के रूप में इसका Use  कर सकते हैं|

क्या E-Rupee पर ब्याज मिलेगा?

जैसे Physical Currency रखने पर कोई भी ब्याज नहीं मिलता  है| ठीक उसी तरह Digital Currency रखने पर कोई ब्याज नहीं मिलेगा|

Digital Currency पर किसी भी प्रकार का कोई ब्याज नहीं दिया जाएगा| और इसे आपके बैंक खाते में आसानी से जमा किया जा सकता है| जो अन्य भारतीय रुपये के ही बराबर होगा| RBI पहले पायलट प्रोजेक्ट से सीखकर ही आगे बदलाव के साथ पूरे देश में इसे लागू करेगा|

क्या E-Rupee हर जगह मिल जाएगा?

रिजर्व बैंक E-Rupee  का पायलट प्रोजेक्ट चला रही है मतलब Tryal चल रहा है|  इसलिए  अभी यह पूरे देश में Available  नहीं होगा| अभी पहले चरण में इसे  दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, भुवनेश्वर  में शुरू किया गया है| इसके बाद इसके दूसरे चरण में इसे अहमदाबाद, गंगटोक, गुवाहाटी, हैदराबाद,  इंदौर, कोच्चि, लखनऊ, शिमला और पटना में शुरू किया जाएगा|

किन बैंकों से E-Rupee मिलेगा?

अभी यह डिजिटल करेंसी कुछ चुनिंदा बैंक ही दे रही है| पहले चरण में  SBI Bank, ICICI Bank,Yes Bank, IDFC Bank E-Rupee देंगे| और दूसरा चरण मैं  बैंक ऑफ बड़ौदा, Union Bank,HDFC Bank  और Kotak Mahindra Bank इस पायलट प्रोजेक्ट में शामिल होंगे|

E-Rupee के लिए डिजिटल वॉलेट कहां से मिलेगा?

अभी बैंक खुद E-Rupee Store करने के लिए Wallet Provide करेंगे| बाद में बैंको के अपने Mobile App के साथ यह Wallet Integrate भी हो सकता है|

E-Rupee की टेक्नोलॉजी क्या होगी?

रिजर्व बैंक डिजिटल करेंसी के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का यूज करेगा| इस टेक्नोलॉजी की वजह से एक हद तक E-Rupee  को ट्रैक नहीं किया जा सकता है| 

डिजिटल करेंसी क्या है?

कैश का Digital Electronic Version यह एक Digital Token के रूप में होगी| RBI Bank जैसे नोटों की छपाई करता है वैसे ही Digital Currency बनाएगा| Currency का Electronic Version होगा जिसको छू नहीं सकते| जो सिर्फ आपके मोबाइल या आपके अकाउंट में होगा| इसे आप लेनदेन में इस्तेमाल कर पाएंगे| Digital Currency की वैल्यू Paper Currency या Coin Currency जितनी ही होती है|

E-Rupee Currency कितने प्रकार की है?

E-Rupee Currency दो प्रकार की की है| 1.Retail, 2. Wholesale.

Retail मैं आम लोग लेनदेन कर सकते हैं|  जैसे हमने किसी दुकान से सामान खरीदा और उसको पैसे देने हैं तो हम डिजिटल करेंसी का प्रयोग कर सकते हैं तो उसे हमें कागजी नोट देने की जरूरत नहीं होगी| हम सीधा उसे डिजिटल करेंसी  देंगे| छोटे-मोटे लेनदेन के लिए प्रयोग की जाएगी|

Wholesale इसका प्रयोग बड़ी-बड़ी कंपनियों और फैक्ट्रियों आदि के लिए है| क्योंकि उनका लेनदेन बहुत ज्यादा होता है इसलिए उनके लिए यह है|

1 नवंबर 2022 को केंद्रीय बैंक ने Wholesale Transaction के लिए Digital Rupee लॉन्च किया था| लेकिन,अब Central Bank इस Digital Currency (CBDC) को Retail इस्तेमाल के लिए भी लॉन्च कर रहा है| RBI के मुताबिक, Retail के लिए Digital Rupee के पायलट प्रोजेक्ट के दौरान इसके डिस्ट्रीब्यूशन और इस्तेमाल की पूरी प्रक्रिया की टेस्टिंग होगी| इसको शुरुआत में चुनिंदा लोकेशंस पर रोलआउट किया जाएगा|

E-Rupee Currency के लाभ  क्या है?

  • E-Rupee अर्थव्यवस्था को  मजबूत करने में मददगार होगी|
  • जेब में Cash रखने के झंझट से छुटकारा मिलेगा|
  • UPI की तरह है पेमेंट करने की सुविधा मिलेगी|
  • E-Rupee  को बैंक मनी और कैश में आसानी से कन्वर्ट कर सकेगा|
    विदेश में पैसे भेजने की लागत में आएगी कमी|
  • E-Rupee बिना इंटरनेट के भी काम करेगा|
  • जो करेंसी अब हमारे पास है उसी के बराबर होगी इसकी वैल्यू|

क्या डिजिटल रुपया ब्लैकमनी पर भी रॉक लगाएगा?

Digital Currency के जरिए किया गया कोई भी Transaction सरकार की नजर में होगा। कोई व्यक्ति Digital Currency के Transaction को छुपा नहीं पाएगा। ऐसे में पारदर्शिता बढ़ेगी और काले धन पर रोक लगेगी।

डिजिटल रुपये के जरिए लेनदेन किस तरह आसान होगा

आज NEFT या RTGS जैसे ट्रांजेक्शन करने पर पैसा एक जगह से दूसरी जगह पहुंचने में कुछ समय लगता है। लेकिन Digital Currency के जरिए पैसा भेजने पर जिसे पैसा मिलना है उसे तुरंत मिल जाएगा।

UPI Payment और E-Rupee में अंतर

Bank बाजार Dot Com की Site को आदिल शेट्टी कहते है| हालांकि, UPI के जरिये आप जो payment करते हैं उसका Transaction भले ही Digital हो लेकिन बैंकों के बीच वह लेनदेन या सेटलमेंट Cash में ही होता है। उदाहरण के तौर पर आप किसी बैंक के ग्राहक हैं और आपने किसी दूसरे बैंक के ग्राहक को कोई Payment UPI के जरिए किया तो आपका बैंक उतना पैसा Cash के तौर पर उस दूसरे बैंक को भेजेगा। वहीं,Digital Rupee में लेनदेन का तरीका इससे थोड़ा अलग है। इसमें RBI द्वारा जारी Digital नोट के जरिये हम payment कर सकते हैं। ये Transaction उसी तरह होगा जैसे आपने किसी व्यक्ति को कोई Payment Cash में किया हो। 

FAQ

डिजिटल रुपया क्या है?

कैश का Digital Electronic Version यह एक Digital Token के रूप में होगी| RBI Bank जैसे नोटों की छपाई करता है वैसे ही Digital Currency बनाएगा| Currency का Electronic Version होगा जिसको छू नहीं सकते| जो सिर्फ आपके मोबाइल या आपके अकाउंट में होगा| इसे आप लेनदेन में इस्तेमाल कर पाएंगे| Digital Currency की वैल्यू Paper Currency या Coin Currency जितनी ही होती है|

E-Rupee कैसे काम करता है?

जैसे हम अपने पैसों को रखने के लिए Wallet,Purse आदि का Use  करते हैं|  वैसे ही Central Bank Currency Wallet  की जरूरत  होगी| E-Rupee  इसी Wallet  मैं Store होंगे| जब आप Bank  से Request करेंगे  तो वह Cash  देने की बजाय  आपके Wallet  मैं E-Rupee डाल  देंगे | Central Bank Digital Currency E-Rupee  उसी तरह रखा होगा जैसे असली नोट  आपकी जेब में रहते हैं|

E-Rupee  को किन शहरों में लागू किया है?

पायलट प्रोजेक्ट के अनुसार अभी पहले चरण में इसे  दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, भुवनेश्वर  में शुरू किया गया है| इसके बाद इसके दूसरे चरण में इसे अहमदाबाद, गंगटोक, गुवाहाटी, हैदराबाद,  इंदौर, कोच्चि, लखनऊ, शिमला और पटना में शुरू किया जाएगा|

किन बैंकों से E-Rupee मिलेगा?

अभी यह डिजिटल करेंसी कुछ चुनिंदा बैंक ही दे रही है| पहले चरण में  SBI Bank, ICICI Bank,Yes Bank, IDFC Bank E-Rupee देंगे| और दूसरा चरण मैं  बैंक ऑफ बड़ौदा, Union Bank,HDFC Bank और Kotak Mahindra Bank इस पायलट प्रोजेक्ट में शामिल होंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *