• Home
  • fullform

 नमस्कर दोस्तो!

आजकल लोगों को तरह-तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता है। कई बीमारी तो ऐसी
होती है जो डॉक्टर की नजर से भी छुपी ही रह जाती हैं इन बीमारियों का अच्छे से
पता लगाने के लिए या तो एक्स-रे किया जाता है या फिर MRI Scan का सहारा लिया जाता
है। तो अब बहुत सारे लोग नहीं जानते होंगे कि M.R.I. क्या होता है?MRI scan क्यों
और कैसे किया जाता है? MRI का मतलब क्या है? 
MRI  Scan Full Form , MRI meaning in Hindi MRI Scan Full Name
एम आर आई उपचार पूरे शरीर की जांच करने वाली मशीन एम आर आई की कीमत एम आर आई क्या
होता है?। तो चलिए सुरु करते है।

MRI Scan/Test क्या है?

तो सबसे पहले जानते हैं कि हमारा इस MRI Scan क्या होता है? तो
MRI Full Form मैगनेटिक रिजोनेंस इमेजिंग जिसे हिंदी में चुम्बकीय अनुनाद
ईमेजइंग होता है। MRI मशीन में पावरफुल मैग्नेटिक रेडियो वेव्स कंप्यूटर की मदद
से आपके शरीर के अंदर के छोटे-छोटे भाग कि फोटो ली जाता है। यह हमारे शरीर में
मौजूद छोटे-छोटे प्रोटोन को एक साथ मिलाकर उनका फोटो लेता है।

MRI Scan Full Form 

दोस्तों MRI का Full Form Magnetic Resonance Imaging होता है एवं इसका
हिंदी मैं  Full Form चुम्बकीय अनुनाद ईमेजइंग होता है। तो हम ने MRI Scan
Full Form जान लिया है अब बात करते MRI SCAN क्यों किया जाता है? जानते है।

MRI SCAN क्यों किया जाता है?

चलिए आब जानते हैं कि एमआरआई स्कैन क्यों किया जाता है MRI Scan की वजह से मेडिकल
साइंस की खूब तरक्की हुई है क्योंकि MRI स्कैन की वजह से डॉक्टर हमारे शरीर में
किसी भी तरह का उपकरण पहुंचाए बिना शरीर के अंदर के अंगों को काफी सटीकता से देख
कर जांच कर सकते हैं। MRI Scan एमआरआई स्कैन किसी भी प्रकार की चोट पर किसी भी
प्रकार के रोग के इलाज में डॉक्टरों की बहुत मदद करता है।

 इस काम की वजह से यह भी पता लगाया जा सकता है कि मरीज पर लागू किया गया
इलाज कितने अच्छे से काम कर रहा है। सोते हुए मरीज का दिमाग कैसे काम करता है या
कोई इंपोर्टेंट काम करते हुए दिमाग का कौन सा हिस्सा ज्यादा काम करता है यह सब
बातें एमआरआई स्कैन से पता लगाई जा सकती हैं।ओर दिमाग से जुड़ी हर प्रॉब्लम का
पता लगा लेते हैं।

MRI Scan Full Form

MRI Scan कैसे किया जाता है?

 चलिए अब हम आपको बताते हैं कि MRI scan कैसे किया जाता है? MRI स्कैन करने
से पहले डॉक्टर मरीज के सारे कपड़े उतरवाकर उसको एक अलग किस्म का सफेद या हल्के
नीले रंग का कपड़ा देते हैं।ओर एमआरआई स्कैन होने से पहले मरीज से धातु की सारी
चीजें निकलवा ली जाती है। जैसे अंगूठी ,घड़ी ,कड़ा , चूड़ा आदि।

फिर उस मरीज MRI स्कैनिंग मशीन की टेबल पर लेटा दिया जाता है। और उसको उस मशीन के
अंदर भेज दिया जाता है फिर मशीन में उपस्थित मैग्नेटिक और रेडियो तरंगों की वजह
से और कंप्यूटर की मदद से उस इंसान के शरीर के अंदरूनी अंगों की पिक्चर्स ले ली
जाती है इन पिक्चर्स की मदद से डॉक्टर आसानी से पता लगा लेते हैं कि उस इंसान को
क्या बीमारी है और वह बीमारी कितनी पुरानी है।

एमआरआई स्कैन की वजह से हमारे शरीर की छोटी से छोटी प्रॉब्लम का भी पता लगाया जा
सकता है। ओर कोई जरूरी नहीं है कि आप पूरी बॉडी क
MRI Scan
करवाएं आपको जिस जगह पर चोट लगी है या जिस जगह का एमआरआई स्कैन करवाना हो आप उस
जगह का एमआरआई स्कैन करना सकते हो। जहां कोई बीमारी है आप सिर्फ उस पर टीका भी
करवा सकते हैं।

MRI Scan करवाने से पहले ध्यान देने योग्य बातें?

एमआरआई स्कैन करवाने से पहले आपको यह ध्यान जरूर रखना है कि आपके कान दांत या
हड्डी में कोई लोहे की या किसी भी प्रकार की मैगनेटिक धातु, अंगुठी , चैन जेसी
चीज डाली हुई नहीं होनी चाहिए अगर ऐसा है तो डॉक्टर को पहले ही बता देना चाहिए।

 अगर आपको किसी प्रकार की एलर्जी है या आपने कोई सर्जरी करवाई है तो उसकी भी
जानकारी डॉक्टर को दे देनी चाहिए।

ओर सबसे बड़ी बात MRI Scan मशीन के कमरे में आपके साथ कोई भी धातु की चीज नहीं
जानी चाहिए क्योंकी MRI मशीन की चुंबकीय पावर बहुत होती है और वह धातु की चीजों
को अपनी तरफ खींच सकती है।और MRI Test में बहुत बड़ी प्रॉब्लम आ सकती है।

Hello दोस्तों, मैं आशा करता हूँ की आपको MRI Full Form In Hindi क्या है ? MRI Scan क्या है? Post पसंद आई होगी अगर आपको इस Post से Related
कोई सवाल या सुझाव है तो Comment करें और इस Post को अपने दोस्तों के साथ जरूर
Share करें।

admin
 

Click Here to Leave a Comment Below 0 comments

Leave a Reply: